नक्सल हिंसा पीडि़त महिला को मिली जनदर्शन में सौगात, भृत्य पद पर नियुक्ति का मिला आदेश

0
61

राजनांदगांव । नक्सल हिंसा पीडि़त मानपुर तहसील के ग्राम शारदा की महिला के लिए कलेक्टर जनदर्शन खुशियों की सौगात लेकर आया है। ग्राम शारदा निवासी कान्ता बाई मंडावी जनदर्शन में अपनी बच्ची के साथ नक्सल हिंसा पीडि़त सहायता योजना के तहत सहायता के लिए आवेदन देने आई थी, लेकिन उन्हें शासकीय नौकरी का आदेश मिल गया। कलेक्टर भीम सिंह ने कान्ता मंडावी को कार्यालय कलेक्टर आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा जारी यह आदेश सौपा। विभाग द्वारा कान्ता बाई की नियुक्ति आकस्मिकता स्थापना (भृत्य) के पद पर प्री-मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास रेंगाकठेरा विकासखंड मोहला में की गई है। कलेक्टर भीम सिंह ने कान्ता बाई से उनके घर-परिवार और बच्चों की पढ़ाई लिखाई के बारे में चर्चा की। कलेक्टर ने कान्ता बाई के साथ आई उनकी बच्ची को निष्ठा योजना के तहत आवासीय विद्यालय में दाखिला कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए।
पीडि़त को नियुक्ति आदेश मिलने में हुए विलंब पर जताई नाराजगी –
जनदर्शन में कान्ता बाई मंडावी के आवेदन मिलने पर आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के अधिकारियों से पूछताछ की गई। तब अधिकारियों ने कान्ता बाई की नियुक्ति का आदेश 28 जनवरी 2019 को ही जारी हो जाने की जानकारी दी। कलेक्टर ने इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि एक सप्ताह पूर्व जारी आदेश संबंधित तक कैसे नहीं पहुंचा। उन्होंने संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों को बुलाकर इस बारे में भी जानकारी ली। कलेक्टर ने ऐसे मामलों में पूरी संवेदनशीलता बरतने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कान्ता मंडावी ने अपने आवेदन में बताया कि नक्सलियों ने उनके पति देश कुमार मंडावी की हत्या पिछले साल 29 अगस्त की रात को कर दी थी।
बिजेपुर के खिलावन अरकरा को भी मिली भृत्य पद पर नियुक्ति –
कार्यालय कलेक्टर आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा ग्राम बिजेपार थाना छुरिया के नक्सल हिंसा पीडि़त परिवार के सदस्य खिलावन अरकरा को भी आकस्मिकता स्थापना (भृत्य) के पद पर नियुक्ति दी गई है। उन्हें प्री-मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास खडग़ांव विकासखंड मानपुर में नियुक्त किया गया है।
जनदर्शन में आज बड़ी संख्या में जिले के लोग अपनी विभिन्न मांगों और समस्याओं से संबंधित आवेदन देने आए। कलेक्टर श्री भीम सिंह के साथ जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी चंदन कुमार ने भी लोगों से आवेदन लिए। उन्होंने जनदर्शन में उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को उनसे संबंधित आवेदन देकर उनके निराकरण के लिए तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
ग्राम बरबसपुर के किसानों को एक सप्ताह के अंदर मुआवजा देने के निर्देश –
कलेक्टर भीम सिंह ने राजनांदगांव विकासखंड अंतर्गत कलडबरी-पटेवा पहुंचमार्ग में प्रभावित बरबसपुर के किसानों को मुआवजा एक सप्ताह के भीतर देने के निर्देश दिए। बरबसपुर के किसानों और अन्य लोगों ने जनदर्शन में आवेदन देकर बताया कि डेढ़ साल पहले बनाई गई इस सड़क से बरबसपुर के 64 परिवार प्रभावित हुए है। इनमें से कुछ किसानों की खेती की जमीन आम सहमति से सड़क के लिए ली गई है। कई अन्य परिवारों के मकान भी सड़क निर्माण के दौरान टूटे है। इन किसानों और परिवारों को अभी तक मुआवजे की राशि नहीं मिली है। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों से मोबाईल पर चर्चा कर एक सप्ताह के अंदर मुआवजा देने के निर्देश दिए।
अमोलीराम साहू को आबंटित आबादी जमीन से कब्जा हटाने होगी कार्रवाई –
अंजोरा जिला राजनांदगांव के श्री अमोलीराम साहू ने आवेदन देकर बताया कि उन्हें आबंटित आबादी जमीन में किसी दूसरे व्यक्ति ने कब्जा कर लिया है। इसलिए वे आबादी जमीन का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। कलेक्टर ने कब्जा हटाने तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। ग्राम पथर्री तहसील छुरिया के श्री दयाराम ने वन भूमि अधिकार पट्टा दिलाने की मांग जनदर्शन में की। उन्होंने बताया कि वे 1979 से वन भूमि पर खेती कर रहे हैं। उन्हें वन अधिकार पट्टा दिलाया जाए। श्री दयाराम ने आवेदन के साथ ग्राम पंचायत का प्रस्ताव भी लगाया था। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारी को श्री दयाराम को वन अधिकार पट्टा दिलाने के लिए कार्रवाई करने निर्देशित किया।स्कूलों में मध्यान्ह भोजन संचालित करने वाले महिला स्व सहायता समूहों की महिलाओं ने आवेदन देकर मध्यान्ह भोजन के लिए प्रत्येक बच्चे के मान से दी जाने वाली राशि तथा रसोईयों की मानदेय राशि को बढ़ाने आवेदन दिया। जनदर्शन में बड़ी संख्या में प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित आवेदन भी प्राप्त हुए।