सुप्रीम कोर्ट के मात्र 12 जजों ने की संपत्ति घोषित

0
12

लाखों के कर्ज में हैं सीजेआई
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के उपर 33 लाख से ज्यादा का लोन है। इस बात का खुलासा उन्होंने खुद किया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा 23 जजों में से केवल 12 ने अपनी संपत्ति घोषित कर दी है। संस्था की वेबसाइट पर अपनी संपत्ति सार्वजनिक करते हुए चीफ जस्टिस ने कहा है कि वे 33 लाख रुपये के लोन में हैं। आपको बता दें कि आज से एक दशक पहले सुप्रीम कोर्ट के जजों की संपत्ति को सार्वजनिक करने के फैसले के प्रस्ताव को पारित किया जा चुका है लेकिन अभी भी वर्तमान जजों में 23 में से मात्र 12 जजों ने अपनी संपत्ति का ब्योरा प्रस्तुत किया है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और उनके बाद के शीर्ष चार वरिष्ठ जजों जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एमबी लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस एके सिकरी ने अपनी संपत्ति वेबसाइट पर घोषित की है।
इनके अलावा संपत्ति सावज़्जनिक करने वाले जजों में जस्टिस एसए बोबड़े, जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस एके गोयल, जस्टिस आर भानुमति, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस अशोक भूषण भी शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट में सीजेआई समेत कुल 31 जजों के पद स्वीकृति हैं जिनमें से आठ पद अभी खाली हैं। जस्टिस आरएफ नरीमन, जस्टिस एएम सप्रे, जस्टिस यूयू ललित, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़, जस्टिस एल नागेश्वर राव, जस्टिस संजय किशन कौल, जस्टिस मोहन एम शांतनगौदर, जस्टिस एस अब्दुल नजीर, जस्टिस नवीन सिन्हा, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस इंदु मल्होत्रा ने अपनी संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया है।
वेबसाइट के मुताबिक, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने एक मई 2012 को अपनी संपत्ति घोषित की थी। वह 10 अक्तूबर 2011 को सुप्रीम कोटज़् में जज नियुक्त किए गए थे। ब्योरे के अनुसार, सीजेआई के पास पूवीज़् दिल्ली में सुप्रीम एन्क्लेव में एक आवासीय फ्लैट है जोकि उन्होंने 2003 में खरीदा था। साथ ही कटक में भी एक घर है। उनके पास 7.4 लाख की एफडी, दो सोने की अंगूठी और एक सोने की चेन है। इसके अलावा उन पर विभिन्न बैंकों का 33 लाख रुपये से अधिक का लोन है।
सुप्रीम कोटज़् में नंबर दो जस्टिस रंजन गोगोई ने 6 जून को ही अपनी संपत्ति का ब्योरा वेबसाइट पर अपडेट किया। इसमें गुवाहाटी की वह संपत्ति भी है जिसे उन्होंने हाल ही में 65 लाख में बेची। इस धन पर उन्होंने कर भी चुकाया। साथ ही मां द्वारा उन्हें और पत्नी को मिली पैतृक संपत्ति की जानकारी भी दी गई है। जस्टिस लोकुर ने 20 जुलाई 2012 को अपनी संपत्ति घोषित की थी। इसके अनुसार, उनके पास नई दिल्ली के वसंत कुंज में एक फ्लैट है और नोएडा में जेपी ग्रीन्स में एक फ्लैट बुक कराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here