भारतीय संस्कृति की धरोहर को बनाए रखना आवश्यक: मंत्री ताम्रध्वज साहू

0
25

00 कर्मा विद्या मंदिर के शाला वार्षिकोत्सव एवं सम्मान समारोह में हुए शामिल
रायपुर /कर्मा विद्या मंदिर रामसागरपारा में आज शाला वार्षिकोत्सव एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में गृह, जेल, लोक निर्माण, पर्यटन, धर्मस्व मंत्री ताम्रध्वज साहू ,रायपुर ग्रामीण विधायक सत्यनारायण शर्मा, रायपुर पश्चिम विधायक विकास उपाध्याय सहित समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। इस अवसर पर मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि वार्षिकोत्सव जैसे कार्यक्रमों के आयोजन से पढ़ाई के साथ-साथ खेल एवं संस्कृति आदि विभन्न कला आयामों में छात्र पारंगत होते है। यह छात्र-छात्राओं में छिपी प्रतिभा को निखारने का सशक्त माध्यम है। वर्तमान में शिक्षा के स्तर को और बेहतर बनाने की जरूरत है। प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को दूरूस्त करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा व्यापक व्यवस्था किया जा रहा है। पालक एवं शिक्षकगण इस बात का ध्यान रखे कि बच्चे केवल किताबी ज्ञान न रखे अपितु उन्हें व्यवहारिक ज्ञान भी हो। केवल नौकरी के लिए शिक्षा नही होना चाहिए। शिक्षा के माध्यम से संस्कृति की नही अपितु भारतीय संस्कृति के धरोहर को बनायें रखना है। संस्कार की शिक्षा भी हो जिसकी शुरूआत पालक घर से कर सकते है। शिक्षा प्रणाली की उपयोगिता पर सभी को विशेष ध्यान देना होगा। शिक्षा के माध्यम से ही अच्छे नागरिक का निर्माण होता है और एक अच्छा नागरिक समाज और देश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाता है। कार्यक्रम को विधायक सत्यनारायण शर्मा और विधायक विकास उपाध्याय ने भी संबोधित किया। विधायक द्वय ने कहा कि शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए न केवल शिक्षकों को अपितु पालकगणों को भी ध्यान देना होगा। किताबी ज्ञान के साथ-साथ शिक्षक बच्चों को व्यावहारिक ज्ञान भी अवश्य रूप से दे। समाज और देश के लिए किताबी ज्ञान के साथ व्यावहारिक ज्ञान आवश्यक है। कला विद्या मंदिर के वार्षिकोत्सव में विद्यार्थियों द्वारा देशभक्ति और छत्तीसगढ़ की कला-संस्कृति को पिरोए मनोहारी कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।