शहीद मुदलियार की शहादत को हम कभी भुल नहीं सकते : भगत

0
13

मुदलियार निवास पर मंत्री भगत का हुआ भव्य स्वागत
राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ सरकार के खाद्य नागरिक आपूर्ति उपभोक्ता संरक्षण योजना आर्थिक एवं सांस्कृतिक एवं संस्कृति विभाग के मंत्री अमरजीत भगत का राजनांदगांव नगर आगमन पर पार्रीनाला स्थित बाबा के मजार पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव जितेन्द्र मुदलियार के नेतृत्व में भव्य स्वागत कर उनकी अगुवानी की। तत्पश्चात मंत्री भगत बाबाजी के मजार पर जाकर मत्था टेक कर देश एवं प्रदेश की एकता, अखंडता की दुआ मांगी। इसके बाद मंत्री भगत पोस्ट ऑफिस के पर स्थित मुदलियार एवं अल्लानुर भिंड़सरा के प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की गयी।
उसके बाद मंत्री भगत शहीद मुदलियार के निवास स्थान में जाकर परिजनों रूबरू चर्चा की। भगत ने कार्यकर्ताओं से रूबरू होते हुए कहा कि राजनांदगांव शहीद उदय मुदलियार की कर्मभूमि है। सामाजिक समरसता के साथ साथ राजनीति को स्व. मुदलियार ने प्रदेश और शहर की राजनीति को एक नई दिशा दी। वे हमेशा राजनांदगांव के विकास एवं लोगों के सुख दुख का ख्याल हमेशा रखा। हम शहीद मुदलियार को कभी भुल नहीं सकते। 2003 में विधानसभा में मैं और मुदलियार साथ बैठा करते है। मेरी उनसे गहरी मित्रता थी। मुदलियार सदैव जनहित के मुद्दों को लेकर मुखर रहते थे वहीं जनविरोधी मुद्दों को लेकर विरोध करते है। उनके साथ बिताया हुआ पल हमेशा अविस्मरणीय रहेगा।
इस दौरान कमलजीत सिंह पिंटू, मामराज अग्रवाल, रूबी गरचा, अशोक पंजवानी, प्रेम रूचंदनी, सुनील आहूजा, शकील रिजवी, चेतन भानुशाली, राजिक सोलंकी, नितिन बतरा, लक्ष्मण साहू, दिलू साहू, अमित कुशवाहा, ऐनी मखीजा, गोलू नायक, राजा चौहान, विनोद पवार, ढालचंद साहू, उमर सिंग, आशीष साहू, अमजद खान, अफताब अहमद, विनीत जैन, रविंद्र यादव, मनीष तराने, राहुल बंदे, लेखू साहू, विरेन्द्र चंद्राकर, महेश साहू, रमेश साहू, सकुर चौहान, विनोद गेंड्रे, पप्पू रजक, जयदीप ढल्ला, आशीष सोनकर, पप्पू खान, गजेन्द्र सिंह राजपूत सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस एवं युवा कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।