ऐसा क्या हुआ कि एक-एक कर 50 मवेशियों की 2 दिन में हो गई मौत…….

0
24

2 दिनों में 50 से अधिक मवेशियों की मौत व 3 दर्जन से अधिक पशु हैं बीमार

प्रवेश गोयल
सूरजपुर:-
जिले का दूरस्थ वनांचल क्षेत्र चांदनी बिहारपुर एक बार फिर प्रशासनिक अनदेखी का शिकार हो गया है। ग्राम पंचायत खोहिर के आश्रित ग्राम लुल्ह और भून्डा में पिछले 2 दिनों मे 50 से अधिक पालतू मवेशी की मौत हो चुकी है, वही अभी भी 3 दर्जन से अधिक मवेशी बीमार हैं ।

ग्रामीणों ने बताया कि 2 दिनों से गांव में लगातार बकरी, गाय व भैंस अचानक मर रहे है। मवेशियों के मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो पा रहा है। गांव में अभी 3 दर्जन से अधिक मवेशी बीमार बताई जा रही हैं, जिन के इलाज के लिए प्रशासनिक स्तर पर न तो कोई चिकित्सक तैनात किया गया है और ना ही कोई कैंप लगाकर किसानों को राहत दी गई है। जब ग्रामीणों द्वारा पशु चिकित्सक बिहारपुर से संपर्क किया गया तो उनसे संपर्क नहीं हो सका। ग्रामीणों का कहना है कि 2 दिन से फोन लगा रहे हैं लेकिन उनका फोन नहीं लग पा रहा है और पशु चिकित्सक बिहारपुर में भी उपलब्ध नहीं है।

ग्रामीणों ने यह भी बताया कि अचानक मवेशियों के पेट में सूजन हो रहा है और तत्काल मौत हो जा रही है। यह घटना बहुत ही गंभीर है लेकिन अभी तक ना तो पशु चिकित्सक का पता चल रहा है और नहीं कोई प्रशासनिक टीम ने कोई पहल किया गया है। लगातार हो रही मवेशियों की मौत ने किसानों की नींद उड़ा दी है। दिन प्रतिदिन मवेशियों की मृत्यु दर बढ़ती जा रही है।

किसकी, कितनी मवेशी हुई मृत

दलसा चेरवा-5 बकरी
बेचू चेरवा-4 नग बकरी
तेजबली सरपंच-4 नग बकरी
रामप्रसाद-5 नग बकरी ओर 4 नग गाय
धनसाय-4 नग बकरी
शिवराज-9 नग बकरी
हीरासाय-2 भैंस
करन साय-1 नग बकरी
भवन साय-6 बकरी समेत अन्य किसानों के मवेशियों की भी मौत हो चुकी है।

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से अपील करते हुए तत्काल पशु चिकित्सा दल भेजने और कैंप लगाकर मवेशियों का इलाज कराने की मांग की है।