बस्तर में दस्तक दी खौफनाक चमकी बुखार ने , एक मासूम की मौत

0
28

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के जगदलपुरर जिले के बस्तर और सीमावर्ती राज्य ओडि़शा के अलावा अन्य स्थानों पर बच्चों के काल के रूप में जाना जाने वाले जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) के बाद अब एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) चमकी बुखार बस्तर में फैलने की आशंका है।
एईएस के लक्षणों से पीडि़त तीन मासूमों को मेडिकल कॉलेज के चिल्ड्रन वार्ड में भर्ती करवाया गया है। ऐसा ही बुखार इस समय बिहार में भी फैला है, जिसे चमकी बुखार कहा जा रहा है। बुधवार को बस्तर के चोलनार गांव से मासूम भुवाने नाग (4 साल) को गंभीर अवस्था में मेकॉज में भर्ती करवाया गया था । इस मासूम की इलाज के दौरान मौत हो गई । अन्य दो बच्चे कुमार मंडावी (7 साल), इतियासा (3 साल) जो किलेपाल और परपा से आए हैं, उनकी सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। पिछले कुछ सालों में बस्तर में जेई से पीडि़त बच्चे इलाज के लिए आ रहे थे, लेकिन इस साल एक्यूट इन्सेफ लाइटिस सिंड्रोम यानी की शिकायत के साथ पहुंच रहे हैं।