रात में एटीएम में नहीं रहते सुरक्षा गार्ड

0
8

पैसों की सुरक्षा पर उठते हैं सवाल
एटीएम की नहीं होती नियमित सफाई
महासमुंद।
जिला मुख्यालय के विभिन्न बैकों के एटीएम की रखवाली के लिए कोई सुरक्षा गार्ड नहीं है। इसकी वजह से एटीएम की सुरक्षा पर सवाल भी उठा रहे हैं। अपराधी अब बैंकों और एटीएम से निकलने वालों को भी शिकार बना रहे हैं।
गौरतलब है कि एटीएम के आस-पास गार्ड नहीं होने की वजह से भी काफी लोग लूट का शिकार हो जाते हैं। ऐसे लोग जो कार्ड से पैसे नहीं निकाल पाते हैं, कई बार दूसरों की मदद लेते हैं, कई बार एटीएम की क्लोनिंग कर ली जाती है। साइबर क्राइम की घटनाओं को अंजाम देने वाले सक्रिय हैं। बैंक प्रबंधन अन्य स्थानों में होने वाली घटनाओं से सबक नहीं ले रहा है। इसकी वजह से सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं। सुरक्षा गार्डों के पास भी सुरक्षा के लिए कोई विशेष हथियार नहीं हैं। सुरक्षा गार्ड लकड़ी के डंडे के भरोसे सुरक्षा कर रहे हैं। दिन में अधिकांश बैंकों के एटीएम में सुरक्षा गार्ड नहीं होते हैं। वहीं शहर में ऐसे भी एटीएम हैं, जो लंबे समय से बंद रहते हैं। बरोंडाबाजार स्थित एटीएम अधिकांश बंद ही रहता है। जिससे ग्रामीण इस एटीएम का लाभ नहीं उठा पाते हैं।
सफाई को लेकर उदासीन
सुरक्षा गार्ड नहीं होने से आलम यह है कि एटीएम में सफाई भी नहीं हो रही है। लंबे समय से पेमेंट स्लीप बिखरे हुए हैं। बुधवार को बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में कचरा बिखरा हुआ था, इसके अलावा एसबीआई के एटीएम में भी यही हाल है। पर्चियों का ढेर देखकर लगता है कि सप्ताहभर से एटीएम की सफाई नहीं हुई हैं।
बैंक व एटीएम की सुरक्षा के लिए गार्ड तैनात किए गए हैं। कुछ एसबीआई के एटीएम में समस्या होगी। – रामदास मांझी, बैंक प्रबंधक, एसबीआई