हुक्का बारों में पुलिस की दबिश, नशे का समान जप्त कर संचालकों से वसूला गया जुर्माना

0
20

भिलाई। शनिवार की रात भिलाई निगम प्रशासन की उडऩ दस्ता एवं स्वास्थ्य अमला की टीम ने योजनाबद्ध तरीके से रेस्टोरेंट्स की आड़ में शहर में संचालित हुक्का बार पर छापामार कार्यवाही की। उडऩ दस्ता, ट्रैफिक पुलिस बल एवं स्वास्थ्य अमला की टीम को सुनियोजित तरीके से कार्यवाही करने के लिए एक ही स्थल पर एकत्रित होने के लिए सूचना प्राप्त हुई जिस पर सभी एक जगह पर एकत्रित हुए किसी को भी यह जानकारी प्रदान नहीं की गई की कौन सी जगह दबिश देनी है तब टीम ने मिलकर यह तय किया कि रिहायशी इलाके वाले क्षेत्रों में रेस्टोरेंट की आड़ में हुक्का बार की गतिविधियां जोरो से संचालित की जा रही है जिस पर जोन क्रमांक 1 नेहरू नगर क्षेत्र के अग्रसेन चौक के समीप होटल हैपनिंग के चौथी मंजिल पर निगम प्रशासन की टीम पहुंची,जहां का नजारा देख टीम हतप्रभ रह गई, कुछ लोगों के द्वारा छत के खुली हवा मे हुक्का का सेवन किया जा रहा था, जिसे समझाइश देकर जाने को कहा गया तथा हुक्का बार संचालक अमित को रुक कर कार्यवाही में उचित सहयोग देने कहा गया परंतु संचालक द्वारा अपने मित्रों से संपर्क कर कार्यवाही स्थल पर बुला लिया गया जिसे टीम ने शासकीय कार्य में बाधा न पहुंचाने की बात समझाकर खदेड़ा गया। तत्पश्चात हुक्का बार से संबंधित सामग्री जिसमें हुक्का लैंप, हुक्का पीने का पाइप, हर्बल हुक्का तंबाकू युक्त खुशबूदार फ्लेवर, एनर्जी ड्रिंक, सिगरेट के डब्बे में छुपाकर रखें अलग-अलग प्रकार के फ्लेवर को पंचनामा बनाकर जब्ती की गई तथा अर्थदंड की राशि वसूल कर हुक्का बार संचालक के समक्ष ताला जड़ा गया। इसके बाद टीम कोहका रोड देसी शराब भट्टी के समीप पहुंची जहां पर एच2 डिस्को के प्रथम तल पर गुस्टो
रेस्टोरेंट में संचालित हुक्का बार की सामग्री जप्त कर अर्थदंड वसूलते हुए संचालक के समक्ष ताला जड़ा गया, कार्यवाही के दौरान संचालक को पूछने
पर हुक्का बार नहीं चलाने की बात कही गई परंतु निरीक्षण करने पर हुक्का से संबंधित सामग्री पाया गया, अंगार जलती हुई दिख रही थी, पूरे कमरे से अलग महक आ रही थी, कुछ लोग मुंह छुपाते बैठे हुए थे जो की नाबालिक थे तथा फ्रिज से मादक पेय पदार्थ भी प्राप्त हुए है। इसी प्रकार इसके सामने स्थित एक और रेस्टोरेंट में दबिश दी गई जहां पर हुक्का पिलाते हुए नहीं पाया गया परंतु निरीक्षण के दौरान हुक्का की सामग्री प्राप्त होने पर जप्त करते हुए अर्थदंड वसूलने की कार्यवाही की गई है।