कलेक्टर ने सिम्स कॉलेज व अस्पताल का किया निरीक्षण

0
82

बिलासपुर । कलेक्टर डॉ.संजय अलंग ने आज सिम्स मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने सिम्स अस्पताल में केजुअल्टी वार्ड, ओपीडी, मनोरोग विभाग, आईसीयू, रेडियोलॉजी विभाग में सीटी स्केन, एक्सरे, सोनोग्राफी कक्ष का निरीक्षण किया। सीटी स्केन मशीन के संबंध में जानकारी ली तथा मशीन के सुधार के लिये कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने आईसीसीयू वार्ड, ब्लड बैंक का निरीक्षण किया। ब्लड बैंक में उपलब्ध उपकरणों की जानकारी ली। एलायजा लैब का अवलोकन किया, जन औषधि केन्द्र में उपलब्ध दवाओ की जानकारी ली। कलेक्टर ने सिम्स मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया। कॉलेज के मेडिसीन विभाग, लेबोरेटरी, कम्युनिटी मेडिसीन विभाग, म्यूजियम, क्लॉस रूम, लाईब्रेरी का निरीक्षण किया। लाईब्रेरी का समय वर्तमान में प्रातः 10 बजे से रात्रि 8 बजे तक है। विद्यार्थियों की सुविधा की दृष्टि से कलेक्टर ने लाईब्रेरी को रात्रि 10 बजे खुला रखने का निर्देश दिया। सिम्स के डीन डॉ. पात्रा ने कलेक्टर को सिम्स पहुंचने के मार्ग पर किये गये अतिक्रमण हटाने और नाली निर्माण तथा अस्पताल भवन की मरम्मत की आवश्यकता बताई। इस संबंध में कलेक्टर ने आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान डीन डॉ.डी.के. पात्रा, अस्पताल अधीक्षक डॉ.जी.पी.सिंह, उप अधीक्षक डा.लखन सिंह, सिम्स के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
मेडिकल कॉलेज की विभिन्न समस्याओं से अवगत हुए कलेक्टर
कलेक्टर डॉ.श्री संजय अलंग ने सिम्स मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों और विभाग प्रमुखों तथा फेकल्टी मेंबर्स की बैठक लेकर कॉलेज की विभिन्न समस्याओं के संबंध में जानकारी ली और उनके निराकरण के लिये दिशा-निर्देश दिये।
बैठक में डीन डॉ.पात्रा ने मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध सुविधाओं तथा समस्याओं से अवगत कराया। चिकित्सा उपकरण, दवाईयों, फेकल्टी तथा स्टॉफ की कमी को दूर करने के लिये कलेक्टर ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कॉलेज एवं अस्पताल के नये भवन के लिये कोनी में 40 एकड़ भूमि आबंटित की गई है। जहां स्टेट कैंसर यूनिट, मल्टी सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, ट्रामा सेंटर, मेडिकल कॉलेज अस्पताल, फेकल्टी तथा स्टॉफ के लिये आवास और छात्रावास निर्माण प्रस्तावित है। कलेक्टर ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी ली। कॉलेज द्वारा कम्युनिटी हेल्थ के लिये विविध गतिविधियां आयोजित की जाती है। इस संबंध में अवगत कराया गया। कलेक्टर ने स्वच्छता जागरूकता को भी इन गतिविधियों में शामिल करने का सुुझाव दिया।