नाले में मिला दो लापता बच्चों का शव

0
23

नई दिल्ली। उत्तर पश्चिमी जिले के जहांगीरपुरी इलाके में बीते 12 घंटे के भीतर दो लापता मासूम बच्चों के शव नाले से बरामद हुए। लोगों ने इलाके में विधायक और निगम पार्षद के खिलाफ रोष प्रकट कर प्रदर्शन किया। वहीं मामले की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए बाबू जगजीवन राम अस्पताल भेज दिया।
डीसीपी विजयंता आर्या ने बताया कि दोनों शवों में एक लड़की की है, जबकि दूसरी लड़के की। लड़की का शव कल शाम नाले से, जबकि लड़के की शनिवार सुबह नाले से मिली है। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, जिसकी रिपोर्ट आने पर मौत के सहीं कारणों का पता चल सकेगा।
जानकारी के मुताबिक लड़की की पहचान चार साल की सोमिना और लड़के की पहचान 6 साल के अर्थान के रूप में हुई। दोनों जी-ब्लॉक जहांगीरपुरी इलाके में अपने परिवार के साथ रहते थे। पुलिस के अनुसार सोमिना की मां मनसूदा बेबी कबाड़ा बिनने का काम करती है। शुक्रवार शाम को मनसूदा घर के बाहर कूड़ा बिन रही थी। इसी बीच सोमिना नाले में गिर गई। मनसूदा ने शोर मचाकर आस-पास के लोगों को इकट्ठा किया। स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची को नाले से निकाल नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
दूसरी घटना आठ फरवरी की है। पुलिस ने बताया कि अर्थान परिवार के साथ जी ब्लॉक में रहता था। उसके पिता अमीर खान घर के पास पंचर की दुकान चलाते हैं। आठ फरवरी को अर्थान घर से खेलते हुए अचानक लापता हो गया था। देर रात तक तलाशे जाने के बाद भी जब अर्थान नहीं मिला तो परिवार वालों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इधर शनिवार सुबह अर्थान के घर के पास के नाले में लोगों ने उसकी टोपी पड़ी देखी थी और नाले को खंगाला तो बच्चे का शव बरामद हुआ।
स्थानीय लोगों ने बताया कि इससे पहले भी जहांगीरपुरी इलाके में कई बच्चों का शव नाले से मिल चुका है। नाराजगी व्यक्त करते हुए लोगों ने कहा कि यहां के विधायक और निगम पार्षद हैं इस ओर ध्यान नहीं देते हैं कि नाला खुला होने से कितनी घटनाएं होती हैं।