ढाई सौ बसों का होगा अधिग्रहण, कल से यात्रियों को होगी परेशानी

0
42

मतदान के बाद 19-20 को लौटेंगी बसें
महासमुंद। लोकसभा चुनाव के लिए बसों के अधिग्रहण का सिलसिला कल से शुरू हो जाएगा जिसके बाद विभिन्न रूटों में सफर करने वाले यात्रियों की परेशानी भी शुरू हो जाएगी। चुनाव के लिए करीब ढाई सौ बसों का अधिग्रहण किया जाना तय किया गया है।
बसों के अधिग्रहण के लिए बस एसोसिएशन और संचालकों को सूचना दी गई है। जानकारी के मुताबिक कल सुबह 11 बजे से मुख्यालय से विभिन्न मार्गों के लिए चलने वाली बसें मतदान दल और सुरक्षा बलों को मतदान केंद्र तक लेकर जाने और वापस लेकर आने के लिए मंडी परिसर में रखी जाएगी। बस एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश चंद्राकर ने बताया कि करीब ढाई सौ बसों की जानकारी उन्हें मिली है जिसमें 15 तारीख से बसों का अधिग्रहण किया जाना तय किया गया है। ये बसें 18 को मतदान होने के बाद 19 और 20 अप्रैल को वापस लौटेंगी, उनका कहना है कि किस रूट की कितनी बसें अधिगृहीत हो रही इसकी जानकारी उन्हें भी नहीं है।
किस रूट में कितनी बसें
जानकारी के मुताबिक रायपुर रूट में कुल 75 बसें संचालित हैं। इसी क्रम में सिरपुर में 8, पिथौरा में 23, खम्हरिया में 5, बागबाहरा में 30, राजिम में 30, छुरा रूट में 5 बसें है जिनमें से लगभग 95 फीसदी बसों का अधिग्रहण होना तय है। लिहाजा मार्गों में इक्का-दुक्का ही बसें चलेंगी जिससे यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। बताया जाता है कि 17 अप्रैल को ये बसें भी अधिगृहीत हो जाएंगी जिससे 19 अप्रैल तक यात्रियों को सफर करने के लिए निजी साधन का उपयोग करना होगा।
विवाह का सिलसिला शुरू, बसें फुल
10 अप्रैल से वैवाहिक कार्यक्रमों का सिलसिला प्रारंभ हो गया है जिसके मद्देनजर ग्रामीण क्षेत्रों से वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों का आना शुरू हो गया है। इन दिनों सभी मार्गों में बसें यात्रियों से फुल चल रही है जिससे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। खासकर गर्मी से सफर महंगा साबित हो रहा है। इधर, वे लोग सबसे अधिक परेशान हैं जिन्हें वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद 17-18 को वापस लौटना है। क्योंकि उन्हें भी जानकारी हो गई है की बस मिलना मुश्किल है।