हर क्षेत्र में महिलाएं निभा रही अग्रणी भूमिका – अनिला भेडिय़ा

0
26


भिलाई। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर खचाखच भरे बीआईटी सभागार में अपने हुनर से श्रेष्ठ कार्य करने वाली एवं समाज सेवा के लिए संकल्पित महिलाओं का महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेडिय़ा ने सम्मान किया। 400 से अधिक स्वसहायता समूह बनाने वाली श्रीमती मंजूलता अंगारे से लेकर अपनी आंगनबाड़ी में पोषण के लिए श्रेष्ठ कार्य कर रही श्रीमती रामीन साहू जैसी अनेक कर्मठ महिलाएं इस अवसर पर सम्मानित हुईं। थाईलैंड में आयोजित मिसेज एशिया इंटरनेशनल प्रतियोगिता का खिताब जीतने वाली श्रीमती अवंतिका श्रीवास्तव के साथ ही डिप्टी कलेक्टर श्रीमती प्रेमलता चंदेल का भी सम्मान हुआ। मंत्री श्रीमती भेडिय़ा ने इस अवसर पर कहा कि, आज महिला दिवस में हर क्षेत्र से प्रतिभाशाली महिलाएं यहाँं आई हैं। इनका सम्मान कर हमें खुशी हो रही है। आपने तमाम बाधाओं को पार करते हुए यह लक्ष्य हासिल किया है। एक महिला जब सफ ल होती है तो पूरा परिवार सफल होता है। पूरा समुदाय सफ ल होता है। यहाँं इस अवसर पर सम्मानित महिलाओं को आपने देखाए वे हर क्षेत्र से संबंधित हैं। ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहाँं महिलाएं अब पीछे हों। इसलिए अगर मन में किंचित मात्र भी संकोच है तो इसे हटा दें। स्वयं आगे बढ़े और दूसरों को भी प्रेरित करें। अपनी बेटियों को प्रोत्साहित करें, उन्हें बताएं कि, मेहनत और हौसले से वे जिंदगी का हर मुकाम हासिल कर सकती हैं।
इस अवसर पर संभागायुक्त दिलीप वासनीकर ने सम्मानित महिलाओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि, महिलाएं आज हर क्षेत्र में अग्रणी हैं। वे न केवल स्वयं आत्मनिर्भर हो रही हैं अपितु साथी महिलाओं को भी इस दिशा में प्रेरित कर रही हैं। मुझे सावित्री बाई फू ले की याद आती है। आजादी के पूर्व उन्होंने नारी शिक्षा के लिए अपना जीवन न्योछावर कर दिया। इस तरह एक महिला जब आगे बढ़ती है तो पूरे समुदाय को प्रेरित करती है। कलेक्टर अंकित आनंद ने इस अवसर पर कहा कि, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर इन हुनरमंद और समाज सेवा के लिए संकल्पित महिलाओं का सम्मान होते देखना बहुत अच्छा लग रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाभावी डॉक्टरों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, स्वसहायता समूहों के गठन के माध्यम से महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत करने वाली महिलाएँ काबिले तारीफ हैं। देश को सशक्त बनाने में इनकी अहम भूमिका है। जब महिला आगे बढ़ती है तो पूरा परिवार, समाज और देश आगे बढ़ता है। इस अवसर पर काँग्रेस नेत्री गुरमीत धनई भी विशेष रूप से उपस्थित थी।

हर क्षेत्र में महिलाएं निभा रही अग्रणी भूमिका – अनिला भेडिय़ा
बीआईटी सभागार में महिलाओं का किया गया सम्मान
(महाकोशल संवाददाता)
भिलाई। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर खचाखच भरे बीआईटी सभागार में अपने हुनर से श्रेष्ठ कार्य करने वाली एवं समाज सेवा के लिए संकल्पित महिलाओं का महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेडिय़ा ने सम्मान किया। 400 से अधिक स्वसहायता समूह बनाने वाली श्रीमती मंजूलता अंगारे से लेकर अपनी आंगनबाड़ी में पोषण के लिए श्रेष्ठ कार्य कर रही श्रीमती रामीन साहू जैसी अनेक कर्मठ महिलाएं इस अवसर पर सम्मानित हुईं। थाईलैंड में आयोजित मिसेज एशिया इंटरनेशनल प्रतियोगिता का खिताब जीतने वाली श्रीमती अवंतिका श्रीवास्तव के साथ ही डिप्टी कलेक्टर श्रीमती प्रेमलता चंदेल का भी सम्मान हुआ। मंत्री श्रीमती भेडिय़ा ने इस अवसर पर कहा कि, आज महिला दिवस में हर क्षेत्र से प्रतिभाशाली महिलाएं यहाँं आई हैं। इनका सम्मान कर हमें खुशी हो रही है। आपने तमाम बाधाओं को पार करते हुए यह लक्ष्य हासिल किया है। एक महिला जब सफ ल होती है तो पूरा परिवार सफल होता है। पूरा समुदाय सफ ल होता है। यहाँं इस अवसर पर सम्मानित महिलाओं को आपने देखाए वे हर क्षेत्र से संबंधित हैं। ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहाँं महिलाएं अब पीछे हों। इसलिए अगर मन में किंचित मात्र भी संकोच है तो इसे हटा दें। स्वयं आगे बढ़े और दूसरों को भी प्रेरित करें। अपनी बेटियों को प्रोत्साहित करें, उन्हें बताएं कि, मेहनत और हौसले से वे जिंदगी का हर मुकाम हासिल कर सकती हैं।
इस अवसर पर संभागायुक्त दिलीप वासनीकर ने सम्मानित महिलाओं को बधाई दी। उन्होंने कहा कि, महिलाएं आज हर क्षेत्र में अग्रणी हैं। वे न केवल स्वयं आत्मनिर्भर हो रही हैं अपितु साथी महिलाओं को भी इस दिशा में प्रेरित कर रही हैं। मुझे सावित्री बाई फू ले की याद आती है। आजादी के पूर्व उन्होंने नारी शिक्षा के लिए अपना जीवन न्योछावर कर दिया। इस तरह एक महिला जब आगे बढ़ती है तो पूरे समुदाय को प्रेरित करती है। कलेक्टर अंकित आनंद ने इस अवसर पर कहा कि, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर इन हुनरमंद और समाज सेवा के लिए संकल्पित महिलाओं का सम्मान होते देखना बहुत अच्छा लग रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सेवाभावी डॉक्टरों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, स्वसहायता समूहों के गठन के माध्यम से महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत करने वाली महिलाएँ काबिले तारीफ हैं। देश को सशक्त बनाने में इनकी अहम भूमिका है। जब महिला आगे बढ़ती है तो पूरा परिवार, समाज और देश आगे बढ़ता है। इस अवसर पर काँग्रेस नेत्री गुरमीत धनई भी विशेष रूप से उपस्थित थी।