सुरक्षा बल और पुलिस जवानों का शत प्रतिशत मतदान सुनिश्चित कराना अधिकारियों की जिम्मेदारी: सुब्रत साहू

0
45

रायपुर,मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने कहा है कि निर्वाचन कार्य में तैनात सुरक्षा बल, पुलिस और होमगार्ड के जवानों का शत-प्रतिशत मतदान सुनिश्चित कराना डाक मतपत्रों के नोडल अधिकारियों की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि सुगम और सुरक्षित निर्वाचन के लिए हमारे सुरक्षा बल के जवान, पुलिस और होमगार्ड के जवान तैनात होते हैं, जिनके मताधिकार की रक्षा करने का दायित्व निर्वाचन कार्य में लगे अधिकारियों का है। वे लोकसभा निर्वाचन-2019 के दौरान निर्वाचन कार्य में नियुक्त सुरक्षा बल के लोगों के डाक मतपत्रों के संबंध में नोडल अधिकारियों के एक दिवसीय प्रशिक्षण अवसर पर अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। श्री साहू ने कहा कि दूरस्थ तथा नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनात रहने वाले सुरक्षा बल के जवानों तक डाक मतपत्र की उपलब्धता, मतदान पश्चात संग्रहण करना नोडल अधिकारियों को सुनिश्चित करना होगा। इसी प्रकार कोटवारों तथा फारेस्ट गार्ड भी अपना मतदान कर सकें इसके लिए डाक मतदान के नोडल अधिकारी व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। सुरक्षा जवानों के डाक मतदान पर समन्वय के लिए अधिकारियों के प्रशिक्षण की यह अभिनव पहल देश में पहली बार छत्तीसगढ़ में की गई। प्रशिक्षण के दौरान पुलिस महानिरीक्षक श्री आनंद छाबड़ा, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. एस. भारतीदासन, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वय समीर विश्नोई, पद्मिनी भोई साहू समेत वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। राजधानी रायपुर स्थित न्यू सर्किट हाउस के ऑडिटोरियम में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रदेश के प्रत्येक पुलिस अधीक्षकों द्वारा नामित 2 अधिकारी, 22 विशेष सशस्त्र बल से 2-2 अधिकारी, राज्य होम गार्ड के 2 अधिकारी तथा सभी जिलों के डाक मतपत्र के नोडल अधिकारी शामिल हुए। प्रशिक्षण के दौरान डाक मतपत्र के लिए प्रपत्र 12 और 13 के संबंध में पुलक भट्टाचार्य मास्टर ट्रेनर द्वारा विस्तार से जानकारी दी गई। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले ये अधिकारी अपने अपने जिले में डाक मतपत्र वितरण, मतदान प्रशिक्षण तथा प्रशासन के साथ समन्वय का काम करेंगे। सभी जिलों में पुलिस कर्मियों के पोस्टल बैलट से मतदान हेतु फेसिलिटेशन सेंटर बनाये जाएंगे। सभी कर्मियों के मतदाता सूची में नाम सर्च करने हेतु nvsp पोर्टल की जानकारी भी दी गयी।