आज महिला दिवस से ‘सुपोषित जननी, विकसित धरनी‘ अभियान होगा शुरू

0
23

00 गर्भवती और धात्री माताओं के पोषण स्तर में सुधार की कवायद
रायपुर,
महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 8 मार्च महिला दिवस से छत्तीसगढ़ में 22 मार्च तक ‘सुपोषित जननी,विकसित धरनी‘ अभियान शुरू किया जाएगा। इस दौरान प्रदेश के सभी जिलों में गर्भवती और धात्री माताओं के पोषण स्तर में सुधार के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। अभियान अवधि में पोषण पखवाड़ा भी आयोजित किया जा रहा है। इसके लिए जिला अधिकारियों को संयुक्त रूप से संचालन सुनिश्चित किए करने तथा मेलों के आयोजन करने के निर्देश दिए गए है इसके तहत पोषण आहार प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी, लोक संगीत कार्यक्रम के आयोजन के साथ फिल्मों और वीडियो का प्रदर्शन भी किया जाएगा। इस दौरान पंचायत ग्रामसभा, सायकल रैली, पोषण रैली और पदयात्रा का आयोजन भी किया जाएगा। विभिन्न विभागों के समन्वय से समूह बैठकों का आयोजन होगा। बैनर,पोस्टर,होर्डिंग,वॉल पेंटिंग,पॉम्पलेट,ब्रोशर,नुक्कड़ नाटकों और प्रभात फेरी के माध्यम से जन जागरूकता का प्रयास भी किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि गर्भवती और धात्री माताओं के पोषण स्तर में सुधार और उनकी मजदूरी की पूरक प्रतिपूर्ति के लिए प्रधानमंत्री मातृ योजना का संचालन एक जनवरी 2017 से किया जा रहा है। योजना के तहत गर्भवती धात्री महिलाओं को प्रथम जीवित संतान के लिए तीन किश्तों में 5 हजार रूपए का भुगतान किया जाता है। इसके अंतर्गत ऐसी गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं जो केन्द्र सरकार या राज्य सरकारों या सार्वजनिक उपक्रमों के साथ नियमित रोजगार में हैं या जो वर्तमान में लागू किसी कानून के अंतर्गत समान लाभ प्राप्त कर रहीं हैं, को छोड़कर सभी गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताओं को लाभान्वित किया जाता है।