कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने भूतपूर्व सैनिकों और उनके परिजनों से की सौजन्य मुलाकात

0
25

राजनांदगांव । कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में भूतपूर्व सैनिकों तथा भूतपूर्व सैनिकों के परिजनों से सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में द्वितीय विश्व युद्ध के एक भूतपूर्व सैनिक तथा दो सैनिक विधवाओं को दो माह की आर्थिक सहायता की राशि 6 हजार रूपए के चेक दिए गए। कार्यक्रम में जिले के 11 ऐसे माता-पिता को प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया गया, जिनके केवल एक पुत्र है और उन्हें सेना में भेजा है। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कैप्टन अनिल चंद्र पोख्रीयाल, सहायक कलेक्टर रोहित व्यास एवं जिला सैनिक कल्याण कार्यालय के अधिकारी-कर्मचारी इस अवसर पर उपस्थित थे। कलेक्टर श्री मौर्य ने इस अवसर पर अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि देश में प्रशासन और इंडियन आर्मी के बीच बेहतर समन्वय के कारण प्रजातांत्रिक व्यवस्था सफलता पूर्वक कार्य कर रही है। भारतीय सेना के तीनों शाखाओं में सेवा देने वाले सैनिक सही मायने में देश की विविध संस्कृति की समझ रखते हैं। श्री मौर्य ने बताया कि उनके परिजन भी सेना में है। इसलिए उन्हें भी सेना के देश सेवा और देश हित के कार्याे को नजदीक से देखने का मौका मिला है। देश सेवा में सैनिकों के योगदान का अमूल्य होता है। सेना के जवान अपना सर्वोच्च बलिदान देते है। उनमें अनुशासन और कर्तव्यनिष्ठता की भावना कूट-कूट के भरी होती है। श्री मौर्य ने इस अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से भूतपूर्व सैनिकों या भूतपूर्व सैनिकों के परिजनों को नागरिक सेवाओं से संबंधित कार्यक्रमों का लाभ देने हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कैप्टन अनिल चंद्र पोख्रीयाल ने इस अवसर पर बताया कि जिला सैनिक कल्याण कार्यालय राजनांदगांव में 155 भूतपूर्व सैनिक और 37 सैनिक विधवाओं का पंजीयन है। उन्होंने बताया कि द्वितीय विश्व युद्ध के एक भूतपूर्व सैनिक व दो सैनिक विधवाएं जिन्हें पेंशन नहीं मिलती उन्हें आर्थिक सहायता के बतौर राज्य शासन द्वारा 3 हजार रूपए प्रतिमाह दिया जाता है। कलेक्टर श्री मौर्य ने द्वितीय विश्व युद्ध के भूतपूर्व सैनिक अनवर हसन तथा भूतपूर्व सैनिक स्वर्गीय हरभजन सिंह की विधवा श्रीमती स्वर्ण कौर तथा भूतपूर्व सैनिक स्वर्गीय श्री रामदिन की विधवा सवाना बाई को 6-6 हजार रूपए के चेक प्रदान किए। कलेक्टर ने जिले के नेमीचंद देवांगन, रामदास यादव, अनजोरी राम, दानी राम, बाबूलाल साहू, कंवल राम, भुनुराम साहू, चिंताराम साहू, हेमंत कुमार, छगनलाल निषाद और कैलाश नारायण जोशी को 5-5 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि के चेक दिए। इनके केवल एक-एक पुत्र हंै और उन्हें देश सेवा के लिए सेना में भेजा है। सरकार की ओर से ऐसे माता-पिता को प्रोत्साहन राशि के रूप में हर साल 5 हजार रूपए दिए जाते हैं।