छत्तीसगढ़ चेम्बर का प्रतिनिधि मंडल छत्तीसगढ़  के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू से मिला

0
34

रायपुर। छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के प्रभारी अध्यक्ष चन्दर विधानी, महामंत्री लालचन्द गुलवानी, कोषाध्यक्ष प्रकाश अग्रवाल, कार्यकारी अध्यक्ष राधाकिशन सुन्दरानी उपाध्यक्ष राजेश वासवानी एवं युवा चेम्बर के संगठन मंत्री निलेश मूंदड़ा ने आज छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू से मुलाकात कर जानकारी दी कि चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता के कारण दस लाख रूपये से ज्यादा की राशि मिलने पर उसकी जब्ती करने के निर्देश दिये गये हैं, इससे छत्तीसगढ़ के व्यापारियों का व्यापार प्रभावित हो रहा है। पदाधिकारियों ने बताया कि व्यापार के लिये व्यापारी नगर-नगर, गांव-गांव भ्रमण करते हुए अपनी वस्तुओं का विक्रय करता है । क्रय-विक्रय एवं राशि संग्रहण से स्वाभाविक रूप से उसके पास दस लाख रूपये एवं उससे अधिक राशि हो सकती है, अगर व्यवसायियों के पास उक्त राशि का पूर्ण दस्तावेजी प्रमाण है तो उस पर कोई भी विभाग द्वारा कार्यवाही नहीं की जानी चाहिये । राशि की जब्ती के भय से व्यापार पर विपरीत असर हो रहा है । आगामी माह में दीपावली का त्यौहार है, दीपावली के पूर्व उपभोक्ताओं द्वारा वस्तुआंे की खरीदी की जाती है । त्यौहारी सीजन में व्यापारियों की वस्तुआंे के अधिक विक्रय होने से व्यापार बढ़ जाता है, उक्त रकम को व्यपारियांे या उनके अधिकृत कर्मचारियों द्वारा बैंकों में जमा करने हेतु ले जाया जाता है । पदाधिकारियों ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री साहू से अनुरोध किया कि इस संबंध में पुनर्विचार करते हुए दस लाख रूपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम राशि की लाने-ले जाने की सुविधा दी जानी चाहिये जिससे व्यापारियों का व्यवसाय प्रभावित न हों। आदर्श चुनाव नियमावली के अनुसार व्यापारी या उसका प्रतिनिधि दस लाख रूपये तक नगद या एक किलो तक सोना-चांदी लेकर चल सकता है । सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय है कि पचास हजार रूपये का नियम चुनाव के प्रत्याशी, उनके एजेंट या पार्टी पदाधिकारियों के लिये है । मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू ने चेम्बर प्रतिनिधि मंडल को आश्वासन दिया कि इस संबंध में व्यापारियों को बेवजह परेशान नहीं किया जायेगा ।