छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की घोषणा,आचार संहिता लागू

0
29

छग के साथ एमपी, राजस्थान, मिजोरम में आज से आचार संहिता लागू
11 दिसंबर को आएंगे नतीजे
रायपुर। भारत निर्वाचन आयोग के आयुक्त ओपी रावत ने आज देश के 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा कर दी है। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव दो चरणों में होगा, निर्वाचन कार्य 15 दिसंबर के पहले पूरी हो जाएगी। पहली बार वीवी पैट वाली ईवीएम मशीनों का उपयोग विधानसभा चुनाव में किया जाएगा।
दिल्ली में एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने बताया कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव दो चरणों में संपन्न कराया जाएगा। 90 सीटों वाली छत्तीसगढ़ विधानसभा का चुनाव दो चरणों में होगा। प्रदेश के नक्सल प्रभावित इलाकों के साथ कुछ विधानसभा सीटों पर प्रथम मतदान 12 नवंबर को तथा दूसरा 20 नवंबर को होगा। इसके लिए 16 अक्टूबर को अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। छत्तीसगढ़ विधानसभा में इस समय सीटों का बंटवारा-भाजपा 49 सीट, कांग्रेस 39 सीटों पर तथा 2 अन्य है।
आयुक्त श्री रावत ने बताया कि विधानसभा चुनाव के लिए आयोग की सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। विधानसभा चुनाव में लगने वाले सुरक्षा बल, ईवीएम, कर्मचारियों की संख्या और उपलब्धता, पहुंच विहीन इलाकों के लिए हैलीकॉप्टर और मतदान दल को सुरक्षित पहुंचाने और लाने की व्यवस्था, आपातकाल के लिए रिजर्व कर्मचारियों की व्यवस्था जैसे अन्य सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई हैं। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आज से छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, राजस्थान और मिजोरम में आचार संहिता भी लागू हो गई है। शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए आयोग ने कड़े इंतजाम किए हैं। हर बूथ पर सुरक्षा बलों की तैनाती के साथ ही वोटिंग के लिए नई ईवीएम मशीनों का उपयोग किया जाएगा। नक्सल प्रभावित इलाकों में पहले चरण में चुनाव कराए जाएंगे। छत्तीसगढ़ में पहले चरण का चुनाव 12 नवंबर को तथा दूसरे चरण का चुनाव 20 नवंबर को होगा। प्रथम चरण में जहां नक्सल प्रभावित 18 सीटों पर चुनाव होगा तो वहीं 72 सीटों में दूसरे चरण में मतदान कराया जाएगा। निर्वाचन आयुक्त श्री रावत ने चुनावी खर्च के संबंध में कहा कि इस बार विधानसभा चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों के लिए खर्च की सीमा बढ़ाई गई है। पूर्व में 16 लाख रूपए की राशि तय की गई थी, जिसे बढ़ाकर 26 लाख की गई है।
चुनाव कार्यक्रम तय :
श्री रावत ने बताया कि छत्तीसगढ़ में प्रथम चरण के लिए 16 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। 23 अक्टूबर तक प्रत्याशी अपना नामांकन दाखिल कर सकेंगे। 24 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 26 अक्टूबर तक प्रत्याशी अपना नाम वापस ले सकेंगे। इसके बाद उम्मीदवारों की फाइनल सूची जारी कर दी जाएगी।
मिजोरम-मध्यप्रदेश में एक साथ मतदान :
श्री रावत ने बताया कि मध्यप्रदेश और मिजोरम में एक चरण में 28 नवंबर को तथा राजस्थान और तेलंगाना में 07 दिसंबर को मतदान कराया जाएगा। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना में मतदान के पश्चात 11 दिसंबर को मतगणना और नतीजों की घोषणा कर दी जाएगी। पूरा निर्वाचन कार्य 15 दिसंबर के पूर्व संपन्न करा लिया जाएगा।