कोरबा के विकास में रफ्तार लाने का प्रयास : रमन

0
25

कोरबा। कोरबा के विकास में रफ्तार में लाने का प्रयास सरकार की ओर से किया जा रहा है। प्रदेश का सबसे बड़ा एजुकेशन हब यहां बनने जा रहा है। ये बातें सोमवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कोरबा में बोनस तिहार में कही। उन्होंने कहा कि कोरबा देश में बिजली की आपूर्ति करता है। और यहीं के इलाकों में विद्युत की समस्या रहती है। उसका कारण सिंगल लाइन है। कोरबा वासियों के लिए डबल कनेक्शन की व्यवस्था की जा रही है। कोरबा में एक बड़े एजुकेशन का निर्माण हो रहा है। वनवासी क्षेत्र के विद्यार्थियों को इसका लाभ होगा।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह कोरबा के सीएसईबी फुटबॉल मैदान में बोनस तिहार कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने विभिन्न हितग्राहियों को सामग्री और अनुदान राशि चेक का वितरण किया। उन्होंने एक लाख 26 हजार 165 किसानों को 211 करोड़ 48 लाख 27 हजार रुपए का धान बोनस दिया। इस दौरान 730 करोड़ रुपए की लागत के 236 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। वे इनमें से 350 करोड़ रुपए की लागत के 78 कार्यों का शिलान्यास और 380 करोड़ रुपए की लागत के 158 कार्यों का लोकार्पण किया।
उन्होंने कहा कि, पहले किसान धान की फसल देखकर चिंतित होता था, लेकिन अब किसानों को चिंता करे की जरूरत नहीं है। इस सरकार को किसानों ने बनाया है। हमारी प्राथमिकता किसान हैं। किसानों के लिए 2100 करोड़ रुपए की व्यवस्था करना आसान नहीं था। इसके लिए विधानसभा की मंजूरी की आवश्यकता थी। छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार विधानसभा का 1 दिन का सत्र बुलाकर इस पर चर्चा कर पास किया गया। प्रधानमंत्री मोदी की छत्तीसगढ़ के किसानों को यह सौगात है। इस वर्ष के धान उत्पादन के बोनस का भी हिसाब अगले वर्ष दिपावली के पूर्व कर दिया जाएगा।
कांग्रेसियों पर साधा निशाना
डॉ रमन ने कांग्रेसियों पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस के 25-50 लोग इकट्ठा होकर किसानों को बोनस देना होगा का नारा लगाते हैं, मैं कहना चाहता हूँ कि बोनस तो दिया जा रहा है फिर हल्ला क्यों ? 14 साल आराम किए हो 10 साल और आराम करो। कांग्रेस से पूछता हूं 2000 से 2003-04 तक 1 रुपए भी बोनस दिया हो तो बताओ। किसानों का धान डुबा -डुबा कर खरीदा जाता था। आज से 14 साल पहले किसानों को 14 प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता था जो आज बिना ब्याज के मिलता है। केन्द्र में कांग्रेस के शासनकाल में घोटलों के कारण विकास में कमी आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here