रायपुर-बस्तर में लहलहा रहे काजू के पौधें-सी एम

0
12

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज रमन के गोठ के जरिए कहा कि खेती के क्षेत्र में बस्तर में परिवर्तन हो रहा है। उन्होंने कहा कि सहकारिता के जरिए वहां किए जा रहे उपाय काफी सफल हो रहे हैं। बस्तर अंचल में आठ हजार हेक्टेयर से अधिक रकबे में काजू के पौधे लहलहा रहे हैं और वहां इसका वार्षिक उत्पादन छह हजार मीट्रिक टन से ज्यादा हो गया है।रमन सिंह ने कहा कि इससे बास्तानार, बकावण्ड, बस्तर, तुरेनार, तोकापाल और दरभा क्षेत्रों में खाली पड़ी जमीन और जंगल को अतिक्रमण से बचाने में भी मदद मिल रही है।मुख्यमंत्री ने कहा कि काजू प्रसंस्करण के लिए बस्तर के ग्राम आसना में सहकारिता के मॉडल के अनुरूप कारखाना लगाया जा रहा है। इसका संचालन भी स्व-सहायता समूह द्वारा किया जाएगा। आदिवासी परिवारों को स्व-सहायता समूहों के माध्यम से काजू के 300-300 पौधे दिए जा रहे हैं, जो राजस्व और वन विभाग की भूमि पर लगाए जाएंगे।इससे बस्तर में काजू का कारोबार 35 करोड़ रूपए से ज्यादा का होने का अनुमान है। केरल, कर्नाटक और गोवा में भी छत्तीसगढ़ के बस्तर के काजू बेचने के लिए अनुबंध की तैयारी की जा रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here