डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ईरान ने परमाणु समझौते की ‘भावना’ का पालन नहीं किया

0
11

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि वह अगले सप्ताह ईरान के ऐतिहासिक परमाणु समझौते को अमान्य घोषित कर देंगे, और इसके बाद यह समझौता रद्द हो सकता है. जानकारी के अनुसार, अधिकारियों कहा कि ट्रंप ईरान को लेकर व्यापक अमेरिकी रणनीति अपना सकते है, जिसमें परमाणु समझौते को लेकर उनका फैसला महत्वपूर्ण है. ट्रंप 15 अक्टूबर को कांग्रेस के समक्ष इस बात की पुष्टि करेंगे कि क्या ईरान समझौते का पाल कर रहा है और क्या यह समझौता अमेरिका के हितों के अनुरूप है. यदि वह यह फैसला करते हैं कि यह समझौता अमेरिकी हितों के अनुरूप नहीं है तो इससे अमेरिकी सांसदों के समक्ष ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगाने का रास्ता खुल सकता है, जिस वजह से यह समझौता खत्म हो जाएगा. ट्रंप काफी लंबे समय से ईरान परमाणु समझौते की आलोचना करते रहे हैं. यह समझौता ईरान और विश्व के छह देशों ब्रिटेन, चीन, फ्रांस, रूस, अमेरिका और जर्मनी के बीच जुलाई 2015 में हुआ था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here