‘ईरान परमाणु समझौते में मध्यस्थ की भूमिका निभाने वाले को 5 साल कैद की सजा’

0
10

तेहरान: विश्व शक्तियों के साथ साल 2015 में हुए परमाणु समझौते में मध्यस्थ की भूमिका निभाने वाली ईरान की टीम के एक सदस्य को जासूसी मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद पांच साल की जेल की सजा दी गई. इसकी जानकारी एक अर्ध-आधिकारिक संवाद समिति ने दी है. बुधवार (4 अक्टूबर) आयी इस खबर में वैसे तो किसी का नाम नहीं दिया गया है, लेकिन सूचनाओं के अनुसार सिर्फ ईरानी-कनाडायी नागरिक अब्दुलरसूल दोरी इसफहानी है पर आपराधिक मामला चल रहा है. अगर इनके हिरासत में लिए जाने की पुष्टि होती है तो वह देश में गिरफ्तार किये जाने वाले दोहरी नागरिकता धारी दूसरे व्यक्ति होंगे. संयुक्त राष्ट्र के पैनल ने इसे परमाणु समझौते के बाद उभर रहा ‘‘नया पैटर्न’’ बताया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here