विश्व के सबसे बड़े रिफाइनरी काम्प्लेक्स की क्षमता बढ़ाएगी रिलायंस

0
20

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज विश्व के सबसे बड़े तेल रिफाइनरी काम्प्लेक्स में अपनी तेल शोधन क्षमता 2030 तक 40 फीसदी बढ़ाना चाहती है। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि रिलायंस गुजरात के जामनगर में अपनी दोहरी रिफाइनरी परिसर में क्षमता विसतार कर सकती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जामनगर रिफाइनरी परिसर में कंपनी अपनी क्षमता हर साल 10 करोड़ टन बढ़ाने की योजना बना रही है। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने साल 2030 तक संभावित ऊर्जा परिदृश्य के बारे में अपनी एक प्रस्तुति में इन विस्तार योजनाओं का खुलासा किया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की इकाई सेंटर फॉर हाई टेक्नोलॉजी (सीएचटी) को एक प्रस्तुति दी है। सीएचटी इस क्षेत्र की परियोजनाओं और तकनीकी जरूरतों का आकलन करती है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है, ‘पेट्रोल और डीजल उत्पादन क्षमता साल 2030 तक करीब 6 करोड़ टन तक बढ़ाने की योजना है।’ रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इस बाबत जानकारी के लिए भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं दिया। रिलायंस अपने जामनगर परिसर में दो रिफाइनरी का परिचालन करती है जिनकी कुल स्थापित क्षमता 12 लाख बैरल प्रति दिन यानी सालाना करीब 6 करोड़ टन है। हालांकि इन संयंत्रों का परिचालन स्थापित क्षमता से अधिक पर किया जाता है और यहां रोजाना 14 लाख बैरल यानी सालाना 7 करोड़ टन कच्चे तेल का परिशोधन होता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here